20वां वार्षिक महासम्मेलन व अनुसूचित जाति का प्रतिभा सम्मान समारोह मनाया

मेघवंशीय समाज चेतना संस्थान शाखा झुन्झनू


झुन्झुनू(चंद्रकांत बंका)बीएल चिरानियां की स्मृति में 20वां वार्षिक महासम्मेलन व अनुसूचित जाति का प्रतिभा सम्मान समारोह आज अंबेडकर पार्क झुंझुनू में हर्षोल्लास से मनाया गया। संस्थान के पदाधिकारियों एवम् मंच पर आसीन अतिथियों ने भारत रत्न बाबा साहेब अंबेडकर एवम् समाज के पुरोधा महान व्यक्तित्व बीएल चिरानिया की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुवात की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के सी घुमरिया आईआरएस प्रदेशाध्यक्ष अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद् ने बताया कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति को मिलकर अपने हक और अधिकारों को प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना होगा। और अंध विश्वास पाखंड को छोड़ना होगा।

आप भले ही अपने परिवार के पालन पोषण में रुपए कम खर्च करें लेकिन अपने बच्चों को शिक्षित जरूर करें। अगर हम शिक्षित होंगे तो ही बाबा साहेब के संविधान को सही मायने में समझ सकेंगे। और अपने हक और अधिकारों को समझ सकेंगे। प्रदेश संयोजक मदनलाल दूधवाल ने मेघवंशीय समाज चेतना संस्थान संगठन की कार्य शैली,उसके गठन के बारे में एवम् महामानव बीएल चिरानिया के व्यक्तित्व और उनकी कार्य शैली पर प्रकाश डाला। संस्थान के पूर्व प्रांतीय संयोजक रामेश्वरलाल कल्याण ने अध्यक्षीय उद्बोधन दिया ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

संस्थान के जिला संयोजक रामनिवास भूरिया ने स्वागत भाषण एवम् संस्थान की गतिविधियों का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। डॉक्टर निरंजन चिरानियॉं वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी चुरु,सुमन चिरानियॉं धर्मपत्नी स्वर्गीय बिल चिरानियॉं,प्रोफेसर जयलाल सिंह अध्यक्ष एससी एसटी अत्याचार विरोधी जिला संघर्ष समिति झुंझुनू,डॉक्टर मधु तंवर स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ बीडीके हॉस्पिटल झुन्झनू,डॉक्टर दीपक देवठिया हड्डी एवं जोड़ रोग विशेषज्ञ बिडीके हॉस्पिटल झुंझुनू,इंद्राज सिंह मरोड़िया सीआई फतेहपुर, एडवोकेट रामावतार राजस्थान उच्च न्यायालय जयपुर,किशन लाल नायक प्रदेश महासचिव नायक महासभा,प्रताप सिंह चौहान सीनियर अधिवक्ता सीकर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। सभी अतिथियों ने समाज को जागरूक करने के लिए ओजश्वी उद्बोधन दिया।

मीडिया प्रभारी सीताराम बास बुडाना ने बताया कि समाज में फैली विभिन्न कुरुतियों को छोड़ने की शपथ वार्षिक समारोह में ली गई। मेघवंशीय समाज चेतना संस्थान हर वर्ष जिले की अनुसूचित जाति की प्रतिभाएं जिन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में तथा सामाजिक क्षेत्र में अतुलनीय योगदान दिया है उन प्रतिभाओं के सम्मान में संस्थान द्वारा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

समाज के प्रतिभावान विद्यार्थियों,राजकीय सेवा में चयन होने वाले समाज के 514 युवाओं एवम् युवतियों सहित जिन्होंने सामाजिक क्षेत्र में अतुलनीय कार्य करने करने वालों को संस्थान द्वारा संस्था का स्मृति चिन्ह,प्रशस्ति पत्र,संविधान की उद्देशिका तथा श्रद्धेय बीएल चिरानिया द्वारा लिखित पुस्तक भेंट कर सम्मानित किया गया। मनदीप तानेनिया को ओएमजी बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाने पर सम्मानित किया गया।

कानाराम मीणा,सवाई सिंह मालावत,मोतीलाल डिग्रवाल, शुभकरण,घीसाराम सांखला,रामेश्वर लाल सेवार्थी,नाथूराम महरिया,प्रोफेसर शिवचंद,सज्जन लाल चूड़ी,लीलाधर चौहान को शॉल ओढ़ाकर वरिष्ठ नागरिक सम्मान दिया गया।

समाज सेवी राजेश दहिया,भागीरथ नेमीवाल,मदनलाल गुडेसर,डॉक्टर संदीप नेमिवाल,डॉक्टर निमिष नेमीवाल,सुमनलता,एडवोकेट मुकेश कलवा,सहीराम तूनवाल,महावीर प्रसाद बरवड,विद्याधर बालान,संगीता भूरिया,पार्षद सीताराम घोटड,हरिराम पिपरालिया,तनसुख सानेल,सुरेंद्र कड़वासरा,इंद्राज सिंह भूरिया,राजेश हरिपुरा,उमेश भूरिया,बाबूलाल वर्मा,डॉक्टर महेश सरोवा,मालदेव,पवन कुमार लूना,संदीप टंडन,घीसाराम,महेश जसरापुर,रोहिताश्व केरू,अमित करोल,डॉक्टर मुकेश बागोतिया,विद्याधर ढेबाना,विजेंद्र,अनिल कुमार,गिरधारीलाल भूरिया,माडूराम,प्यारेलाल,पवन गुडेसर,भागीरथ आलडिया सहित समाज के सैंकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*